Seven B&W Photo : Day 2

अपनी खिड़की पर बैठी वो अक्सर आते जाते लोगों को देखती रहती थी पर पूरे दिन वो इंतेज़ार करती थी गुब्बारे वाले का .रंग बिरंगे गुब्बारे ले कर जब वो गली में आता था, तो  मुहल्ले के सारे बच्चों के चेहरे पर मुस्कुराहट आ जाती थी..वो भी खुशी से खिल जाती थी.आँखों में मानो कोई चमक आ गयी हो|

पता नहीं, ऐसा क्या था इस पल में, कि वो सब कुछ भूल कर उसमें खो जाती थी.वो अलग अलग रंगो के गुब्बारे मानो कई सपने ले कर आते थे.. उड़ते हुए यहाँ वहाँ फुदकते हुए सपने..

एक दिन शाम हो गयी पर गुब्बारे ले कर कोई नहीं आया.

वो खिड़की पर आती और हर बार निराश हो कर वापिस चली जाती.

रात हो गयी . आज वो नहीं आया. वो एक पल, जिसका वो पूरा दिन इंतज़ार करती थी .. आज नही आया..

अरे!ये क्या? अगले दिन सुबह सुबह घंटी बजाते हुए गुब्बारे वाला आया है .अरे वाह!आज तो कई आकार के गुब्बारे हैं | गली में ऐसे गुब्बारे पहले किसी ने नहीं देखे थे| फिर क्या था, बच्चों की भीड़ लग गयी.

इतना शोर सुनकर वो खिड़की की तरफ भागी. उसके चहरे की खुशी देखने लायक थी| आज गुब्बारे वाला उसकी खिड़की पर आया और पूछा:

“कौन सा गुब्बारा चाहिए बिटिया” ?

वो बोली” नहीं नहीं. मैं क्या करूँगी गुब्बारे का बाबा..चाची कहती हैं” ये गुब्बारे सपनों की तरह होते टूटने वाले सपने. मुझे नही चाहिए..

गुब्बारे वाले ने पूछा “और माँ क्या कहती है”

अचानक उसकी वो आँखों की चमक कहीं ओझल सी हो गयी. वो बोली “माँ तो नहीं है”ये कहकर वो अंदर भाग गयी|

गुंबरे वाला थोड़ी देर तक खिड़की से उसे देखता रहा और फिर एक गुब्बारा वहीं खिड़की पर बाँध कर चला गया.

 साथ में एक कागज भी लगा गया,जिस पर लिखा था:

“सपने टूटने के डर से सपने देखना नहीं छोड़ाकरते लाडो

           तुम्हारी माँ”..

गुब्बारा मिलते ही मानो उसे दुनिया का सबसे बड़ा ख़ज़ाना मिल गया हो|और वो कागज,वो कागज उसने आज भी संभाल के रखा है.

 

I would like to nominate Vishal Dutia “https://jalvisquotes.wordpress.com/” to continue this challenge with 7 B&W photos ..no force  .ThanksIMG_0125

Advertisements

7 thoughts on “Seven B&W Photo : Day 2

      1. That’s the thing i love about you! 😀 always trying to improvise and coming up with something new…like that post you wrote from your daughter’s perspective…was quite innovative!! 👏👏

        Liked by 1 person

      2. Thanks a lot dear..nano nomad is a series and I will be writing about all her travels.. thanks for your love..I am still waiting for your response on my post which I have written for you. Hope you like that too

        Liked by 1 person

      3. Do share them when done…the nano nomad series.
        Yes i did reply to that post. It was lovely and beautiful!! 😃
        Sorry have been away for a while…caught up with work ☹️

        Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s